देश की प्रमुख संत

 साध्वी प्रीति प्रियमवदा ने कहा है कि बुराई के विरुद्ध लड़ने का सबसे बड़ा हथियार सत्य है। सत्य ही सनातन है, सत्य से जीवन की हर कठिनाई का समाधान हो सकता है। 

एल एन जे भीलवाड़ा समूह मयूर नगर लोधा के आडिटोरियम में आज दोपहर आयोजित प्रवचन कार्यक्रम में साध्वी प्रीती जी ने कहा सत्य सबसे बड़ा धर्म है। मौजूदा हालातों में जरूरत है कि लोग धैर्य के साथ सत्य के मार्ग पर चलें और शौर्य को प्राप्त करें। उन्होंने समारोह में मौजूद युवाओं का पथ प्रदर्शन करते हुए कहा कि हर व्यक्ति के भीतर ईश्वर का वास रहता है। ईश्वर से बड़ा कोई गुरु नहीं।व्यक्ति स्वयं का गुरु स्वयं ही है। यदि

अपनी गलतियों को ध्यान में रखकर उनका सुधार किया जाता है तो जीवन निर्मल और सुखमय हो जाता है। उन्होंने कहा कि प्रतिस्पर्धा जीवन में धैर्य को खत्म कर रही है नकारात्मक सोच कुंठित जीवन की ओर ले जा रही है इस पर विजय प्राप्त करने के लिए सकारात्मक सोच के साथ सत्य धर्म को अपनाना चाहिए। व्यक्ति सकारात्मक सोच के साथ ही स्वयं और राष्ट्र का निर्माण कर सकता है। 

साध्वी जी ने कहा आत्मबल की मजबूती जीवन को सफल बनाने के लिए जरूरी है।  साहस और आत्मबल से  राष्ट्र मजबूत होगा। हर परिस्थति से निपटने के लिए निराशा को त्याग कर साहस व आत्मबल को  अपनाना होगा। 

इस अवसर पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी योगेश दत्त तिवारी, के साथ एल एन जे ग्रुप के उच्च अधिकारि महा प्रबंधक अरविंद मिश्रा, मनीष स्वामी, सतपाल महादेब, सचिन सोडानी, मनोज शाह, आर के अग्रवाल, गोपाल लाल काबरा, अरुण वीर सिंह यादव, नरेंद्र भंडारी, ममतेश् जैन, के सी विलसंन् आर के गग्रानी, राहुल शेखावत, दीपक शेट्टी, सुनील डाड और महिला क्लब ने बुके भेंट कर स्वागत किया। 

श्रीमती वीना तिवारी ने साध्वी जी का शाल ओढा कर सम्मान किया। इस मौके पर सेकड़ो नर नारियों ने पुष्प वर्षा कर दीदी का स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *