केरल के रहने वाले एक शख्स ने इस पूरे मामले की जानकारी एक फेसबुक पोस्ट पर दी है, जिसमें उसने बताया कि ट्रैफिक पुलिस ने उसकी बाइक में पर्याप्त पेट्रोल नहीं होने के कारण Challan काटा है.

बाइक सवार सावधान रहें, क्योंकि ट्रैफिक पुलिस (traffic police) न केवल आपके हेलमेट, ड्राइविंग लाइसेंस (driving license) या वाहन के दस्तावेजों को देख रही है, बल्कि बाइक में पर्याप्त ईंधन (पेट्रोल) न होना भी आपके लिए एक समस्या बन सकता है। ताजा मामला केरल से सामने आया है, जहां एक बाइक चालक का चालान इसलिए काटा गया क्योंकि उसकी बाइक में नियमानुसार पर्याप्त पेट्रोल नहीं था। Challan काटने के बाद उक्त व्यक्ति ने यह पूरी घटना फेसबुक पर पोस्ट कर दी, इतना ही नहीं उसने केरल ट्रैफिक पुलिस द्वारा भेजे गए ई-चालान ( e-challan) की एक तस्वीर साइट पर शेयर की और यह वायरल हो गई.

इसके बाद श्याम ने इस मामले में कुछ वकीलों से भी दरअसल, यह घटना केरल के रहने वाले बासिल श्याम (Basil Shyam)  के साथ हुई, जो अपनी रॉयल एनफील्ड बाइक से काम करने के लिए घर से जा रहा था। इस दौरान वह एकतरफा गली में घुस गया और मौके पर मौजूद ट्रैफिक पुलिसकर्मी ने उसे रोक लिया। बाइक रुकने के बाद उनसे 250 रुपये का जुर्माना भरने को कहा, जिसका पालन करते हुए वह वहां से चले गए. हालांकि, कार्यालय पहुंचने पर, उन्होंने challanकी जांच की और यह जानकर चकित रह गए कि वास्तव में यात्रियों के साथ पर्याप्त ईंधन के बिना ड्राइविंग के लिए उनसे शुल्क लिया गया था।

संपर्क किया और यह जानने की कोशिश की कि उनका चालान सही है या नहीं. जिसके बाद उन्हें पता चला कि गाड़ी में पेट्रोल की मात्रा कम होगी, किसी भी सूरत में यह अपराध की श्रेणी में नहीं आती है. जिसके बाद श्याम ने फेसबुक पर एक लंबी पोस्ट में अपनी पूरी कहानी बताई। उसने दावा किया कि वह कम ईंधन पर भी गाड़ी नहीं चला रहा था और उसकी मोटरसाइकिल का टैंक लगभग हमेशा भरा रहता था।

आपको बता दें कि श्याम रॉयल एनफील्ड क्लासिक 350 चला रहा था। पोस्ट के कैप्शन के मुताबिक, चालान की तस्वीर वायरल होने के बाद श्याम को मोटर वाहन विभाग के एक अधिकारी का फोन भी आया और उक्त व्यक्ति ने समझाया श्याम ने इस तरह के एक वर्ग के बारे में विस्तार से बताया लेकिन यह भी कहा कि यह एक दोपहिया और निजी है। यह नियम वाहनों पर लागू नहीं होता है। यह केवल सार्वजनिक परिवहन जैसे बसों पर लागू होता 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *