बहू का साथ देने पर घर के बाहर चाचा की गोली मारकर हत्या…

हथियार लहराते हुए मौके से फरार…

गाजियाबाद, 30 जुलाई। निवाड़ी थानाक्षेत्र के गांव अबूपुर में शनिवार तडक़े करीब साढ़े 4 बजे बाइक सवार दो भतीजों ने चाचा की गोली मारकर हत्या कर दी और हथियार लहराते हुए मौके से फरार हो गए। घटना के वक्त चाचा घर के बाहर खड़े होकर टूथब्रस कर रहे थे। शुरुआती जांच में पुलिस को पता चला है कि भतीजे और उसकी पत्नी के बीच चल रहे विवाद में मृतक भतीजे के बजाए बहू का पक्ष लेते थे। इसी बात की भतीजे उनसे रंजिश रखते थे। पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने बीती 16 जुलाई को हापुड़ के कपूरपुर थानाक्षेत्र के गांव छज्जूपुर में अपने साले की भी हत्या कर दी थी। जिसमें वह फरार चल रहे हैं। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

गांव अबूपुर में ओमवीर प्रजापति (42) अपने परिवार के साथ रहते थे। वह भट्टे पर ईंट ढुलाई का काम करते थे। पुलिस का कहना है कि ओमवीर रोजाना सुबह करीब 6 बजे घर से भट्टे पर जाते थे। शनिवार को वह ड्यूटी जाने के लिए तैयार हो रहे थे। तडक़े करीब साढ़े 4 बजे जब वह घर के बाहर खड़े होकर टूथब्रस कर रहे थे तभी बाइक पर आए उनके दो भतीजों ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी। ओमवीर की चीख सुनकर पत्नी कमलेश बाहर दौड़ी तो उन्होंने बाइक पर भाग रहे हत्यारोपियों की पहचान गौरव और मोनू के रूप में की। परिजनों द्वारा घायल हालत में ओमवीर को गाजियाबाद के अस्पताल लाया गया। वहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

बहू का साथ देने पर नाराज थे हत्यारोपी भतीजे

पुलिस को जांच में पता चला है कि ओमवीर के तीन सगे भतीजे गौरव, मोनू और सोनू गांव में ही रहते थे। सोनू का अपनी पत्नी राधा से विवाद चल रहा है। सोनू अक्सर पत्नी के साथ मारपीट करता था। जिसमें ओमवीर हापुड़ के छज्जूपुर गांव निवासी राधा का पक्ष लेते थे। बताया गया है कि दो माह पूर्व भी सोनू ने पत्नी की बुरी तरह से पिटाई कर दी थी। राधा का पक्ष लेने पर सोनू और उसके भाइयों की चाचा ओमवीर से कहासुनी भी हुई थी। तीनों भतीजों ने ओमवीर को जान से मारने तक की धमकी दी थी। पुलिस का कहना है कि बहन राधा की पिटाई से नाराज भाई सचिन ने गांव में आकर तीनों भाइयों के साथ मारपीट की थी। जिसके बाद तीनों भाई अपनी मां के साथ गांव छोडक़र चले गए थे।

साले ने घर आकर पीटा तो गोलियों से भून डाला

हापुड़ पुलिस का कहना है कि कपूरपुर थानाक्षेत्र के गांव छज्जूपुर में 16 जुलाई को सचिन नामक युवक की घर के पास गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। इस घटना को बाइक सवार तीन युवकों ने तडक़े करीब सवा 4 बजे अंजाम दिया था। हत्यारोपी कई स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हुए थे। जांच में पता चला कि सचिन की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसके जीजा सोनू और सोनू के भाइयों गौरव व मोनू ने ही की थी। इस घटना के बाद से तीनों भाई फरार चल रहे थे। वहीं, जांच के दौरान निवाड़ी पुलिस को पता चला कि सचिन करीब 15 दिन पूर्व अपनी बहन राधा को उसकी ससुराल से घर ले आया था। सचिन द्वारा की गई तीनों भाइयों के साथ मारपीट और राधा को मायके ले जाने से क्षुब्ध तीनों भाइयों ने पहले सचिन की हत्या की और फिर शनिवार को राधा का पक्ष लेने वाले खुद के चाचा को मौत के घाट उतार दिया।

एसएसपी मुनिराज जी ने बताया कि उन्होंने मौके पर पहुंच कर पीडि़त परिजनों से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली है। मृतक की पत्नी कमलेश की तहरीर पर निवाड़ी पुलिस ने गौरव व मोनू के खिलाफ हत्या की नामजद रिपोर्ट दर्ज कर ली है। थाना पुलिस हत्यारोपियों की तलाश में जुटी है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर घटना का खुलासा करने के निर्देश दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *