भारत और बंगलादेश ने 7 समझौतों पर हस्ताक्षर किए; दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों ने संयुक्त रूप से एक हजार 320 मेगावाट क्षमता के मैत्री ऊर्जा संयंत्र का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और बांग्‍लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने नई दिल्‍ली में कल आपसी साझेदारी की समीक्षा करने और संबंधों को सुदृढ बनाने के लिए द्विपक्षीय वार्ता की। दोनों नेताओं के नेतृत्‍व में भारत-बांग्‍लादेश प्रतिनिधिमंडल स्‍तर की बातचीत हुई। बैठक में सम्‍पर्क, ऊर्जा, जल संसाधन, व्‍यापार और निवेश, सीमा प्रबंधन और सुरक्षा, विकास साझेदारी, क्षेत्रीय तथा बहुपक्षीय मुद्दों पर विचार-विमर्श हुआ। दोनों नेताओं ने मैत्री सुपर थर्मल पावर प्रोजेक्‍ट की पहली इकाई का संयुक्‍त रूप से उद्घाटन किया। परियोजना का निर्माण भारत रियायती वित्‍त पोषण योजना के अन्‍तर्गत किया जा रहा है।
दोनों देशों के बीच जल संसाधन, रेलवे, विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के संबंध में सात समझौते हुए। इनमें प्रसार भारती और बांग्‍लादेश टेलीविजन के बीच प्रसारण के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने का समझौता शामिल है।
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कुशियारा नदी जल बंटवारे पर एक महत्‍वपूर्ण समझौता होने की घोषणा की।प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उन्‍होंने आतंकवाद और कट्टरवाद के खिलाफ सहयोग देने पर भी जोर दिया। श्री मोदी ने कहा कि भारत और बांग्‍लादेश ने सूचना प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष और परमाणु ऊर्जा जैसे क्षेत्रों में सहयोग बढाने का फैसला किया है, जो युवा पीढी के हित में है।
बांग्‍लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने भारत को बांग्‍लादेश का मित्र बताते हुए बांग्‍लादेश मुक्ति संग्राम में भारत के योगदान को याद किया।
सुश्री हसीना ने उम्‍मीद जताई कि आपसी बातचीत से आर्थिक विकास और लोगों की मूलभूत जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी।
विदेश सचिव विनय मोहन क्वात्रा ने बताया कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय और उपक्षेत्रीय सहयोग को और मजबूत करने के लिए महत्‍वपूर्ण समझौता हुआ। उन्‍होंने प्रसार भारती और बांग्‍लादेश टेलीविजन के बीच प्रसारण क्षेत्र में सहयोग बढाने पर हुए समझौते के बारे में विस्‍तार से बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *