बेटा क्लास मे आया था सेकेंड, माँ ने उदासी मे, टॉप करने वाले बच्चे को जहर देकर मार डाला!

खबरें खटाखट 7/9/2022

  • 1:14 pm

कराईकल/ तमिलनाडु: अभी तक आपने बच्चों पर पढ़ाई और टॉप करने के प्रेशर से जुड़ी खबरें देखी होंगी. इस प्रेशर में नासमझी में आते हुए कई बार वे गलत काम भी कर जाते हैं, लेकिन यह नासमझी और प्रेशर अब बच्चों से ज्यादा बड़ों में दिखने लगी है. तमिलनाडु में एक ऐसी ही हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है. यहां एक महिला ने अपने बेटे के सेकेंड आने पर क्लास में फर्स्ट आने वाले बच्चे को जहर देकर मार डाला. रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपी महिला ने स्कूल के चौकीदार के जरिए बच्चे को जहर दिया. फिलहाल पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है.

टॉपर से जलन के कारण उठाया खौफनाक कदम

रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना तमिलनाडु के कराईकल में हुई. यहां रहने वाला 13 साल का आर. बालामनिकंदन 8वीं क्लास में पढ़ता था. वह पढ़ने में तेज था, अपनी क्लास में टॉप आता था. दूसरी ओर उसकी क्लास में पढ़ने वाला एक और छात्र जो दूसरे नंबर पर आथा था. उसकी मां आर बालामनिकंदन से जलती थी. उसे बालामनिकंदन का फर्स्ट आना और बेटे का सेकेंड आना अच्छा नहीं लगता था. इस बार भी रिजल्ट में यही हुआ. इसके बाद वह चाहती थी कि उसका बेटा हमेशा टॉप करे. यही सोचकर उसने बालामनिकंदन को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया.

इस तरह पकड़ में आई आरोपी महिला

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बीते शुक्रवार को स्कूल का एनुअल डे था. इस फंक्शन में आर. बालामनिकंदन को परफॉर्म करना था. लेकिन आरोपी महिला ने उसकी परफॉर्मेंस रोकने के लिए एक षडयंत्र रचा. आरोपी महिला जे सहायारानी विक्टोरिया ने सॉफ्ट ड्रिंक में कुछ गोलियां मिलाकर बालामनिकंदन को पिला दीं. उसने बालामनिकंदन को यह पिलाने के लिए चौकीदार से झूठ बोला. उससे कहा कि वह उसकी मां है. चौकीदार ने भी इसे सही समझ वह बोतल बालामनिकंदन तक पहुंचा दी. सॉफ्ट ड्रिंक पीते ही उसकी तबीयत बिगड़ने लगी. बच्चे को अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन 1 दिन बाद उसने दम तोड़ दिया. वहीं बच्चे से पूछताछ औऱ स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखकर पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में उसने अपना गुनाह कबूल किया और बताया कि उसने उसकी हत्या सिर्फ इसलिए की है क्योंकि उसकी वजह से उसका बेटा सेकेंड आता था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *