देश में रोजगार बढ़ रहे हैं। विनिर्माण, स्वास्थ्य समेत नौ चयनित क्षेत्रों में कुल रोजगार के अवसर इस साल जनवरी-मार्च में 10 लाख बढ़कर 3.18 करोड़ रहे। यह मंगलवार को जारी तिमाही रोजगार सर्वेक्षण (क्यूईएस) के चौथे दौर (जनवरी-मार्च 2022) की रिपोर्ट में कहा है। रिपोर्ट में कहा अनुमानित रोजगार तीसरी तिमाही (सितंबर-दिसंबर, 2021) के 3.14 करोड़ से बढ़कर चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च, 2022) के 3.18 करोड़ हो गया है |

इन क्षेत्रों में बढ़े रोज़गार

श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेन्द्र यादव ने अखिल भारतीय त्रैमासिक प्रतिष्ठान आधारित रोजगार सर्वेक्षण (एक्यूईईएस) के तहत तिमाही रोजगार सर्वेक्षण के चौथे दौर (जनवरी-मार्च 2022) की रिपोर्ट जारी की । उन्होंने कहा की अर्थव्यवस्था के चुनिंदा नौ क्षेत्रों में रोजगार बढ़ रहा है। नौ चयनित क्षेत्र विनिर्माण, निर्माण, कारोबार, परिवहन, शिक्षा, स्वास्थ्य, आवास और रेस्तरां, सूचना प्रौद्योगिकी/बीपीओ (बिजनसे प्रोसेस आउटसोर्सिंग) और वित्तीय सेवाएं हैं। इन नौ क्षेत्रों में जनवरी 2021 से जनवरी 2022 की अवधि में 10 लाख बढ़े हैं ।

श्रम मंत्रालय ने मंगलवार को जारी तिमाही सर्वेक्षण में कहा चौथी तिमाही तिमाही के दौरान अनुमानित कुल 3.18 करोड़ कर्मचारी 5.31 लाख प्रतिष्ठानों में लगे हुए थे, जबकि तीसरी तिमाही में कुल 3.14 करोड़ कर्मचारी कार्य कर थे। विनिर्माण क्षेत्र में श्रमिकों की कुल संख्या का सबसे बड़ा प्रतिशत (38.5 प्रतिशत) है, इसके बाद शिक्षा क्षेत्र में 21.7 प्रतिशत, आईटी / बीपीओ क्षेत्र में 12 प्रतिशत और स्वास्थ्य क्षेत्र में 10.6 प्रतिशत है।

महिला कामगारों की बढ़ी संख्या 

चौथी तिमाही की रिपोर्ट में महिला कामगारों की भागीदारी तीसरी तिमाही के 31.6 प्रतिशत से बढ़कर 31.8 फीसदी पर पहुंची। स्वास्थ्य सेवाओं में महिला कामगारों की संख्या 52 फीसदी पहुंच गई है । जबकि शिक्षा, वित्तीय सेवाओं और आईटी/बीपीओ क्षेत्र में संगत प्रतिशत क्रमशः 44 प्रतिशत, 41 प्रतिशत और 36 प्रतिशत है। वित्तीय सेवाओं में, स्वरोजगार करने वाले व्यक्तियों में महिलाओं की संख्या पुरुषों से कहीं अधिक है।

क्या है “क्यूईएस”

“क्यूईएस” अखिल भारतीय त्रैमासिक स्थापना-आधारित रोजगार सर्वेक्षण (एक्यूईईएस) का हिस्सा है। श्रम मंत्रालय नौ चुने हुए क्षेत्र के तहत संगठित और असंगठित दोनों क्षेत्रों में रोजगार एवं प्रतिष्ठानों का सर्वेक्षण करता है। तिमाही के आधार पर श्रम अनुमान प्रदान करने के लिये यह सर्वेक्षण (एक्यूईईएस) करता है।

एक्यूईईएस के दो हिस्से हैं। पहला, त्रैमासिक रोजगार सर्वेक्षण (क्यूईएस) और दूसरा, ‘एरिया फ्रेम’ प्रतिष्ठान सर्वेक्षण (एएफईएस)। पहला 10 या उससे अधिक श्रमिकों को रोजगार देने वाले प्रतिष्ठानों से संबंधित है जबकि दूसरा नौ या उससे कम श्रमिकों को रोजगार देने वाले प्रतिष्ठानों से जुड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *