राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने आज चण्‍डीगढ में पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज के शताब्‍दी और दीक्षान्‍त समारोह में भाग लिया। इस अवसर पर राष्ट्रपति ने विद्यार्थियों से मातृभूमि के प्रति अपने कर्तव्य को हमेशा याद रखने की अपील की। उन्‍होंने कहा कि तकनीकी शिक्षण संस्थानों में छात्राओं की संख्या अधिक होनी चाहिए। राष्ट्रपति ने चण्‍डीगढ सचिवालय के नवनिर्मित भवन का भी उद्घाटन किया। इस यात्रा के दौरान राष्‍ट्रपति ने कल चण्‍डीगढ में सुखना लेक में आयोजित भारतीय वायुसेना के 90 वें स्‍थापना दिवस समारोह में भी भाग लिया। उन्‍होंने राजभवन में पंजाब के राज्‍यपाल और केन्‍द्रशासित प्रदेश के प्रशासक बनवारी लाल पुरोहित द्वारा उनके सम्‍मान में आयोजित समारोह में भी भाग लिया। इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए राष्‍ट्रपति मुर्मु ने कहा कि केन्‍द्रशासित प्रदेश चण्‍डीगढ के साथ पंजाब और हरियाणा को प्रकृति ने अनेक अनूठे उपहार दिये हैं। उन्‍होंने यह भी कहा कि प्रकृति के अनुकूल विज्ञान और टैक्‍नोलॉजी का विकास होना चाहिए।

महिला सशक्तीकरण के बारे में राष्‍ट्रपति ने कहा कि महिलाएं सभी क्षेत्रों में आगे बढ रही हैं और ये समाज का दायित्‍व है कि वह बालकों के साथ बालिकाओं को भी आगे बढने के लिए प्रोत्‍साहित करें, ताकि हमारा देश प्रगति की ओर अग्रसर रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *