डीएम की अध्यक्षता में यू0पी0 बोर्ड परीक्षाओं के परीक्षा केन्द्र निर्धारण के लिये बैठक सम्पन्न
जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश द्वारा आयोजित वर्ष 2023 की हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट परीक्षाओं के केन्द्र निर्धारण के लिये कलैक्ट्रेट सभागार में बैठक का आयोजन किया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा परीक्षा केन्द्रों का निर्धारण ऑनलाइन प्रक्रिया द्वारा किया जाएगा, जिसके लिये जनपद के विद्यालय प्रबन्धकों एवं प्रधानाचार्यों द्वारा अपने-अपने विद्यालयों का ब्यौरा विभागीय पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है।जिलाधिकारी ने अपलोड किये गये विद्यालयों में आधारभूत सूचनाओं एवं उपलब्ध सुविधाओं के भौतिक सत्यापन के लिये उपजिलाधिकारियों की अध्यक्षता में समिति का गठन करते हुए निर्देशित किया कि 18 नवम्बर तक पोर्टल पर अपलोड किये गये समस्त विद्यालयों में पेयजल, शौचालय, विद्युत आपूर्ति, सीसीटीवी, ऑडियो रिकॉर्डर, फर्नीचर, पहॅुच मार्ग एवं परीक्षा केन्द्र के पूर्व इतिहास के बारे में विस्तृत ब्यौरा जिला विद्यालय निरीक्षक का उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने स्पष्ट किया कि पूर्व में ब्लैक लिस्टेड एवं खराब छवि वाले विद्यालयों को परीक्षा केन्द्र न बनाया जाए।जिला विद्यालय निरीक्षक सुभाष बाबू गौतम ने बताया कि जनपद में 775 शासकीय, अशासकीय एवं सहायता प्राप्त विद्यालय हैं। विगत वर्ष 153 विद्यालयों में परीक्षा केन्द्र बनाये गये थे। शैक्षिक सत्र 2022-23 में हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट के लगभग 01 लाख 15 हजार 300 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित होंगे। उन्होंने बताया कि यू0पी0 परीक्षाओं को लेकर परीक्षा केन्द्र बनाने के लिये राजकीय इण्टर कॉलेजों को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके साथ ही प्रदेश सरकार द्वारा परीक्षा केन्द्र निर्धारण के सम्बन्ध में कुछ मानक भी तय किये गये हैं जिस पर एसडीएम की अध्यक्षता में गठित कमेटी रिपोर्ट प्रस्तुत करेेगी। हांलांकि परीक्षा केन्द्रों के निर्धारण के सम्बन्ध में उपजिलाधिकारियों द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट के पश्चात जिलाधिकारी द्वारा अंतिम निर्णय लिया जाएगा।बैठक में अपर जिलाधिकारी नगर विवेक चतुर्वेदी, सम्बन्धित उपजिलाधिकारी एवं समिति के सदस्य उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *