जोधपुर  न्यूज़ डेस्क   मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज सुबह जोधपुर पहुंचे. जोधपुर एयरपोर्ट से मुख्यमंत्री सीधे ही महात्मा गांधी अस्पताल पहुंचे.

– जोधपुर जिले के भुंगरा गांव में सुरेंद्र सिंह की शादी को लेकर न केवल परिवार के लोग बल्कि आसपास के ग्रामीण भी उत्साहित थे। घर में खुशी का माहौल था।दूल्हे के तैयार होने के बाद रस्में निभाई जा रही थीं। मेहमान और ग्रामीण और परिवार के सदस्य एक छत्र के नीचे भोजन कर रहे थे। इसी बीच गैस का रिसाव शुरू हो गया, लेकिन कोई पता नहीं चल सका। गैस फैलती रही और ग्रामीणों के कपड़ों तक पहुंच गई। ढाणी और शामियाने में गैस फैल चुकी थी। इसी बीच चिंगारी से आग भड़क उठी।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सुबह जोधपुर पहुंचे. जोधपुर एयरपोर्ट से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जोधपुर के महात्मा गांधी अस्पताल पहुंचे. जहां उन्होंने जोधपुर जिले के शेरगढ़ थाना इलाके के भूंगरा गांव में शादी समारोह के दौरान गेस सिलेंडर में विस्फोट से घायल घायलों की कुशलक्षेम पूछी. साथ ही घायलों के परिजनों से मुलाकात कर हादसे की पूरी जानकारी ली. इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अस्पताल प्रशासन के साथ ही जिला प्रशासन के अधिकारियों से बात कर दिशा निर्देश दिए. सीएम ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भूंगरा गांव में शादी समारोह के दौरान जो हादसा हुआ वो हृदय विदारक घटना है. उन्होंने कहा कि कई लोग गंभीर रूप से झुलसे हैं और इस मामले में दो बच्चों व तीन महिलाओं की मौत हो चुकी है. अन्य घायलों का महात्मा गांधी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

उन्होंने कहा कि इलाज में किसी तरह की कोई भी कमी नहीं रखी जाएगी. फिर भी उन्होंने उनके इलाज के लिए जयपुर से एक टीम भिजवाने की बात कही. मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि उन्होंने उनके इलाज को लेकर परिजनों से भी बात की है चिकित्सकों की टीम इलाज में अच्छी तरह से लगी हुई है और परिजनों ने भी इलाज को लेकर संतोष जताया है. इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि हादसे में मृतकों के परिजनों को चिरंजीवी योजना के तहत 5 लाख की राशि दी जाएगी. साथ मृतकों के परिजनों को सीएम रिलीफ फंड से भी दो 2-2 लाख की राशि देने की घोषणा की.

मुख्यमंत्री ने हादसे में घायलों को एक लाख की सहायता की बात कही. मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके अलावा भी गैस सिलेंडर कंपनी की एसोसिएशन से बात के लिए जिला कलेक्टर को निर्देश दिए गए हैं और जिला कलक्टर उनसे बात कर जो भी हो सकेगी वह मदद करवाएंगे. इस हादसे के दौरान राजस्थान पुलिस के जवान डूंगर सिंह द्वारा सिलेंडर बाहर निकालने और लोगों की जान बचाने पर मुख्यमंत्री ने उसकी सराहना क की. सीएम ने कहा कि ऐसे लोगों में अच्छा मैसेज जाए इसके लिए डीजीपी से बात करेंगे. पद्दोनीति या जो भी अच्छा होगा करेंगे. इस दौरान आरसी के चेयरमैन वैभव गहलोत सहित कांग्रेस भाजपा जनप्रतिनिधि नेता भी मौजूद रहे.

चूंकि गैस फैल चुकी थी, इसलिए आग ने कुछ ही पलों में पूरी ढाणी और शामियाने को अपनी चपेट में ले लिया। आग की लपटों में वहां मौजूद लोग झुलस गए। शादी में कोहराम मच गया। हाहाकार मच गया। बच्चे और महिलाएं रोने लगीं। सभी अपने-अपने जूते-चप्पल छोड़कर जान बचाने के लिए भागने लगे। हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई और 25 की हालत गंभीर है। हादसे की जानकारी होते ही आसपास के ग्रामीण व युवक मौके पर पहुंचे और राहत कार्य में जुट गए। घायलों को निजी वाहनों से अस्पताल ले जाया गया। भाजपा ग्रामीण महासचिव जसवंत सिंह इंदा व उनके साथियों ने जले हुए लोगों को कार व अन्य वाहनों से नजदीकी अस्पताल पहुंचाया. जबकि शेरगढ़ निवासी बलवीर कुमार ने चारों घायलों को पहले एमडीएम अस्पताल पहुंचाया।

शेरगढ़ थानाध्यक्ष देवेंद्र सिंह ने बताया कि हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। दो सिलेंडर फट गए थे, जबकि गैस से भरे दो सिलेंडर जल रहे थे। कांस्टेबल डूंगर सिंह ने दोनों जले सिलेंडरों को बाहर निकाल कर आग बुझाई। इस कोशिश में उसका हाथ जल गया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हादसे पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया कि जिलाधिकारी से बात कर सभी घायलों का उचित उपचार सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना भी की। प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने भी दुख व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *