राजधानी लखनऊ में साल की शुरुआत ही तीन हत्याएं हुईं।

खबरें खटाखट

लखनऊ में साल की शुरुआत होते ही एक किशोरी सहित तीन शव मिले। किस किशोरी की बलात्कार के बाद हत्या, किसानों के अपहरण के बाद हत्या और ज्वैलर्स की लूटपाट के बाद हत्या के आरोप लगे। पुलिस 24 घंटे के विवरण के बाद भी तीन मामलों में हत्याओं के विषय में ठोस मामला नहीं ढूंढ पाई है। इसे लेकर मानसिक में है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि संदिग्ध लोगों के धरपकड़ के लिए टीम ने झांसा दिया है। जल्द ही इसका खुलासा करेंगे।

दुबग्गा में ज्वैलर्स का खून से लथपथ मिला शव, पुलिस के हाथ खाली

बेटी के साथ जितेंद्र वर्मा।

आईआईएम रोड यात्रियों पर कूड़े के ढेर में रविवार सुबह सर्राफा व्यापारी जितेंद्र वर्मा (40) का खून से लथपथ शव पड़ा था। बालागंज निवासी आकाश लूथरों ने लूटपाट कर जीतेंद्र की हत्या कर दी। घटना के वक्त उसके पास करीब 13 किलो चांदी, कुछ सोने के जेवर और 85 हजार रुपये नकद थे।

सदतगंज के दर्जी की बोबिया निवासी जितेंद्र करीब पांच साल से बाराबंकी के फतेहपुर स्थित सुसुराल में जो चांदी का काम कर रहे थे। वह लखनऊ और श्रीनगर के सर्राफा मार्केट में सप्लाई सप्लाई करते थे। वह 31 दिसंबर को सुबह करीब 10.30 बजे घर से निकले और उसी के बाद लपता थे। परिजनों का कहना है कि पुलिस हत्यारों को खोज की जगह हम लोगों से ही संदिग्धों के विषय में जोर दे रही है।

होमगार्ड की बेटी की हत्या शव शव में फेंका

इटौंजा में किशोरी की गला घोंटकर हुई थी हत्या, बलात्कार की पुष्टि के बाद बनाई गई रणनीति।

लखनऊ के इटौंजा थाना इलाके में रविवार सुबह एक होमगार्ड की 14 साल की बेटी की हत्या कर दी गई। हत्यारों ने हत्या कर शव घर के पास ही संभावना में फेंक दिया। फोटो देखकर लग रहा था कि रेप के बाद मर्डर हो गया। पोस्टमॉर्टम में गला दबाकर हत्या की पुष्टि हुई है और बलात्कार की पुष्टि के लिए बनाई गई है। पिता के मुताबिक उनकी बेटी सुबह घर से शौच के लिए निकली थी। करीब 20 मिनट तक घर न लौटने पर खोजबीन की तो उसका शव मिला।

काकोरी में हरदोई से लापता किसानों का शव मिला

बेटे ने गांव के पांच लोगों पर अपहरण कर नहर में डुबाकर हत्या करने का आरोप लगाया।

काकोरी में खानपुर नहर में हरदोई पिहानी के बखरिया निवासी लापता किसान रामेश्वर (55) का शव मिला। उनके बेटे अजीत कुमार के मुताबिक, 23 दिसंबर की रात से पिता घर से निकले थे, तभी से लापता थे। रविवार को नहर में उनका शव मिला। उसने गांव के पांच लोगों पर अपहरण के बाद हत्या का आरोप लगाया है। अजीत का कहना है कि 20 दिसंबर को ट्रैक्टर बोगी से 35 कुंतल गन्ना चोरी का आरोप लगा उन्हें धमाका रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *